साहसी बालक की कहानी – (Sahasi Balak ki Kahani)

सुंदरपुर नाम का एक छोटा सा गांव था। उस गांव में पूर्णचन्द्र नाम का एक बालक था। वो प्रतिदिन अपने गाँव की पाठशाला में पढ़ने जाया करता था। पाठशाला में वह खूब मन लगाकर पढाई करता था, शिक्षक जो भी कार्य देते वो घर आकर उसे समय पर पूरा कर लेता और फिर अपना कार्य समाप्त होने के … Read moreसाहसी बालक की कहानी – (Sahasi Balak ki Kahani)