ईश्वर चंद्र विद्यासागर की कहानी – ishwar chandra vidyasagar story in hindi

एक छोटा सा स्टेशन था, बहुत कम रेलगाड़ी ही वहाँ रुकती थी। शाम का समय था, अंधेरा हो रहा था। चारों ओर चिड़ियाँ चहक रहीं थी, उसी समय एक रेलगाड़ी छुक – छुक करती हुयी वहाँ रुकती हैं। रेलगाड़ी से एक व्यक्ति हाथ में अपना सुटकेश लिए बाहर निकलते हैं। उस व्यक्ति का नाम था … Read moreईश्वर चंद्र विद्यासागर की कहानी – ishwar chandra vidyasagar story in hindi