बंदर और गिलहरी की कहानी – Hindi Story For Class 1

बंदर और गिलहरी की कहानी  Hindi Story For Class – 1 : सुंदरवन में एक आम का पेड़ था।  उस पेड़ पर एक बंदर बैठा हुआ था।  बंदर की पूंछ बहुत लम्बी थी, वह जमीन से लटक रही थी।  बंदर और गिलहरी की कहानी  पेड़ के निचे एक गिलहरी खेल रही थी।  उसने ऊपर देखा तो … Read moreबंदर और गिलहरी की कहानी – Hindi Story For Class 1

चार व्यापारी मित्र की कहानी – hindi story for class 4

Hindi story for class 4 – दोस्तों हम आपके साथ कक्षा – 4 (Hindi story for class 4) की हिंदी कहानी शेयर कर रहें हैं। यह चार मित्रों की रोचक कहानी हैं। चार व्यापारी मित्र की कहानी गंगा नदी के किनारे कंचनपुर नामक एक गाँव बसा हुआ था। उस गाँव में अनेक तरह के काम … Read moreचार व्यापारी मित्र की कहानी – hindi story for class 4

लघु बाल कहानी : चिड़ियाँ और शिकारी – Laghu Bal kahani in hindi

एक बहुत ही सुन्दर जंगल था। उस जंगल में एक सोन चिड़ियाँ रहती थी। एक दिन वह चिड़ियाँ डाल पर बैठ कर मधुर आवाज में गीत गा रही थी। उसी समय एक शिकारी आया उसने चुपके से आकर उस सोन चिड़ियाँ को पकड़ लिया और पिंजरे में बंद कर दिया। सोन चिड़ियाँ बोली : शिकारी … Read moreलघु बाल कहानी : चिड़ियाँ और शिकारी – Laghu Bal kahani in hindi

Hindi Story For Class 2 – हिंदी कहानी कक्षा 2 के लिए



कहानी – साथी की सहायता – Hindi story for class 2

एक बालक था, उसकी उम्र 11 वर्ष थी। एक दिन वो अपने पिता के पास गया और बोला – पिताजी…मुझे 5 – 7 रुपये दे दीजिए।

Hindi story for class 2
Hindi story for class 2

पिताजी ने पूछा – तुम्हें 5 – 7 रुपये किसलिए चाहिए ?

बालक बोला – मुझे इन रुपयों की जरूरत है।

पिताजी ने बालक को 5 रुपये दे दिये, लेकिन वो जानना चाहते थे कि आखिर बालक इन रुपयों को किस काम में खर्च करता है।
बालक सीधा अपने साथी के घर गया, पिताजी भी चुपके से उसके पीछे चल पड़े….बालक ने अपने साथी को बुलाया और फिर दौनों बाजार की ओर चले गए।
बाजार में पुस्तकों की एक दुकान थी, वहां दोनों रुक गए, बालक ने एक पुस्तक खरीदी और अपने साथी को दे दी, उसके साथी को इन पुस्तकों की बहुत जरूरत थी।
पिताजी सबकुछ समझ गये, वे बहुत खुश थे कि उनके बेटे ने साथी की मदत की हैं।
पिताजी ने बेटे को बुलाया और कहा – बेटा, तुमने बहुत अच्छा काम किया है। अपने साथियों की सहायता करना बहुत अच्छी बात है।

इस बालक का नाम चितरंजन दास था। जो बड़े होकर देशबंधु चितरंजन दास कहलाये, उन्होंने देश की बहुत सेवा की, जिसके कारण लोग इन्हें प्यार से देशबंधु कहने लगे।


कहानी – फूल कुमारी – Hindi story for class 2


एक था राजा, एक थी रानी उसकी बेटी थी फूल कुमारी। फूल कुमारी बहुत हँसमुख थी। उसे अगर कुछ भी अजीब दिखता तो वो जोर – जोर से हँसने लगती थी।

Class two hindi story
Hindi story for class 2

एक दिन की बात हैं, राजा रानी और फूल कुमारी राज्य के शाही बग़ीचे में बैठे थे।

Read moreHindi Story For Class 2 – हिंदी कहानी कक्षा 2 के लिए

Hindi Ki Kahaniya | किसान की कहानी – सिर्फ एक वरदान | हिंदी की कहानियाँ

किसी गाँव में एक गरीब किसान रहता था, वह बहुत ही मेहनती और ईमानदार था।  एक रात सपने में उसे भगवान मिले और बोले – मैं तुम से बहुत प्रसन्न हूँ। इसलिए तुम मुझसे कोई एक वर मांगो। Hindi Ki Kahaniya किसान ने भगवान को प्रणाम किया लेकिन उसके समझ में नहीं आया की वह … Read moreHindi Ki Kahaniya | किसान की कहानी – सिर्फ एक वरदान | हिंदी की कहानियाँ

घमण्डी हाथी और चींटी | Hindi kahani for kids | Ghamandi Hathi Aur Chinti

एक जंगल में एक हाथी रहता था, वह बहुत ही घमण्डी था। वह बिना किसी बात के जंगल के जानवरों को परेशान किया करता था।  Hindi kahani For Kids जंगल के सभी जानवर उससे परेशान रहते थे, वह इतना बलवान था कि उस जंगल का शेर भी उससे से डरता था। एक दिन हाथी ने … Read moreघमण्डी हाथी और चींटी | Hindi kahani for kids | Ghamandi Hathi Aur Chinti

प्रेरणादायक कहानी – राजा और मकड़ी – Inspirational story – Raja Aaur Makdi

एक समय की बात हैं। सुन्दर नगर नामक एक राज्य था। वहाँ वीरकेतु नामक एक राजा राज्य करता था। एक दिन उसने अपने सभी मंत्रिको बुलाया और कहा कि ऐसी कोई चीज का पता लगाये जो किसी काम का नहीं हैं। जिसका कोई महत्व नहीं हैं। जिसका कोई उपयोग नहीं होता हैं, और जो राज्य … Read moreप्रेरणादायक कहानी – राजा और मकड़ी – Inspirational story – Raja Aaur Makdi