चम्पक की कहानियाँ : पक्षियों का झुंड और शिकारी – champak ki kahaniya


champak ki kahaniya – बहुत पुराणी कहानी हैं। चम्पक वन नाम का एक जंगल था, उस जंगल में एक बहुत ही बड़ा बरगद का पेड़ था। उस पेड़ पर बहुत सारे पक्षी अपना घोंसला बना कर रहते थे। 
वे सभी पक्षी संकट में एक दूसरे की सहायता करते थे, उनमें बहुत प्यार था।  इस साल बहुत से पक्षियों ने अपने घोंसलों में अंडा दिया था। वे अपने अंडो की बहुत देखभाल करते थे।

champak ki kahaniya
चम्पक की कहानियाँ 

एक दिन की बात हैं, सभी पक्षी दाना चुनने के लिये दूर के खेतों में गये हुये थे। उसी समय जंगल में एक शिकारी आया, शिकारी ने बरगद के पेड़ पर बहुत से पक्षियों का घोसला देखा, वह उस पेड़ पर चढ़ गया और शिकारी ने पक्षियों के घोसलों से अंडे निकाल लिया।

पक्षियों ने जब वापस आकर अपने घोसलों में देखा तो उन्हें बहुत दुख हुआ , क्यों की उनके अंडे शिकारी ले जा चूका था।  सभी पक्षी रोने लगे। उनको रोता हुआ  उनके झुंड का सबसे बूढ़ा पक्षी उनके पास आया।

बूढ़े पक्षी ने कहा – चलो पता करते है की शिकारी पेड़ पर कैसे चढ़ गया, यह पेड़ इतना ऊँचा हैं की इस पर चढ़ना बहुत मुश्किल हैं।

जब पक्षियों ने पेड़ के चारों तरफ देखा तो उन्हें एक झाड़ी दिखाई दी, झाड़ी पेड़ से चिपक कर ऊपर तक गयी थी, शिकारी उसी झाड़ी को पकड़ कर पेड़ पर चढ़ा था।

अब बूढ़े पक्षी ने कहा – इसी झाड़ी के कारण शिकारी पेड़ पर चढ़ा था।  इसलिये हमें इस झाड़ी तो उखाड़ देना चाहिए नहीं तो अगली बार फिर शिकारी हमारे अंडे ले जायेगा।

लेकिन वह झाड़ी बहुत मजबूत थी। सभी पक्षी एक एक कर कोशिश करते लेकिन किसी से भी झाड़ी नहीं उखड सका, सब थककर पेड़ पर बैठ गये।

तब बूढ़े पक्षी ने कहा – देखो इस तरह से हम झाड़ी को नहीं उखाड़ सकते, अगर झाड़ी को उखाड़ना हैं तो सब एक साथ कोशिस करते हैं, पक्षियों ने उस बूढ़े पक्षी की बात मानी।

सबने मिलकर अपनी चोंच और चँगुलों से उस झाड़ी को पकड़ा और उड़ना शुरू किया , देखते ही देखते वह झाड़ी उखड गयी , पक्षियों ने उसे दूर जाकर फेक दिया।

सभी पक्षी बहुत खुश हुये , अगले बार जब पक्षियों ने अंडा दिया तो शिकारी फिर से आया लेकिन इस बार वहाँ झाड़ी नहीं थी , वह पेड़ पर चढ़ नहीं पाया , वह वापस चला गया।

यह देख सभी पक्षी बहुत प्रसन्न हुये, कुछ दिन बाद उनके अंडों से छोटे , छोटे बच्चे निकले और पूरा पेड़ पक्षियों के चहकने से गूँज उठा।

शिक्षा – दोस्तों इस कहानी (Champak ki kahaniya) से हमें यह सिख मिलती हैं की हमें आपस में मिलजुल कर रहना चाहिये। क्यों की एकता में शक्ति होती हैं। निचे भी ऐसी ही रोचक कहानियाँ उपलब्ध हैं उसे भी जरूर पढ़ें। 



RELATED POSTS –

About bhartihindi

दोस्तों BhartiHindi.com अपने पाठकों के लिए हिंदी कहानी, कविता, रोचक जानकारी और अन्य लेख उपलब्ध कराती हैं। अगर आप हमारे सभी लेख सबसे पहले पढ़ना चाहते है तो हमारे Facebook page को Like करके भी हमसे जुड़ सकते हैं , जिससे आपको हमारे सभी नए लेख की जानकारी मिलती रहेगी....धन्यवाद।

View all posts by bhartihindi →

One Comment on “चम्पक की कहानियाँ : पक्षियों का झुंड और शिकारी – champak ki kahaniya”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *