गुलाब फूल के बारें में 20 रोचक तथ्य | 20 Interesting Facts About Rose In Hindi


गुलाब फूल के बारें में 20 रोचक तथ्य – Interesting Facts About Rose In Hindi

1. गुलाब एक बहुवर्षीय, झाड़ीदार, कंटीला पौधा हैं। जिसमें बहुत ही सुंदर फूल लगते हैं।

2. पूरे विश्व में गुलाब की 100 से अधिक प्रजातियाँ पायी जाती हैं। जिनमें से अधिकांश एशियायी मूल की हैं, और कुछ यूरोप, उत्तरी अमेरिका, अफ्रीकी मूल के हैं।
3. ऋतुओं के अनुसार गुलाब दो प्रकार के पाये जाते हैं, सदागुलाब और चैती गुलाब।
4. सदागुलाब हर ऋतु में खिलता हैं, जबकि चैती गुलाब सिर्फ बसंत ऋतु में खिलता हैं।
5. चैती गुलाब में सदागुलाब की तुलना में ज्यादा सुगंध होता हैं।
6. गुलाब के फूल का उपयोग पूजा, सजावट, गुलदस्ता, में होता हैं। इसके अलावा गुलाब इत्र और गुलाबजल के रूप में भी प्रयोग किया जाता हैं।
7. हमारे देश में गुलाबजल और इत्र के कई कुटीर उद्योग चलते हैं।
8. गुलाब के पंखुरियों और शक्कर से गुलकंद बनाया जाता हैं।
9. भारत में गुलाब फूल की खेती उत्तरप्रदेश के हाथरस, ईटा, बलिया, कन्नौज, फरुखाबाद, कानपुर, गाजीपुर तथा राजस्थान के उदयपुर, चित्तौड़ तथा जम्मू कश्मीर में होती हैं।



10. राजस्थान के जयपुर को गुलाब नगर कहा जाता हैं।

11. गुलाब को यूरोप के कई देशों में राष्ट्रीय फूल का दर्जा प्राप्त हैं।

12. गुलाब के इत्र का अविष्कार नूरजहाँ ने किया था।

13. ऐसा कहा जाता हैं कि गुलाब का इत्र नूरजहाँ ने 1612 ईस्वी में अपने विवाह के अवसर पर बनाया था।

14. पंडित जवाहरलाल नेहरू जी को भी गुलाब का फूल पसंद था, वे अपनी पोशाक में गुलाब का फूल लगाते थे।

15. गुलाब प्रेम, स्नेह, प्यार, सच्चाई और मित्रता का प्रतीक हैं।

16. भारतीय सहित्य में गुलाब फूल के अनेकों संस्कृत पर्याय हैं।

उदाहरण – अपनी रंगीन पंखुड़ियों के कारण गुलाब पाटल हैं, सदैव तरुण होने के कारण तरुणी, केशर युक्त होने के कारण चरुकेशर आदि।

17. हिंदी में श्रृंगारी कवि ने गुलाब को रसिक पुष्प के रूप में चित्रण किया हैं।

18. कवि देव ने अपनी कविता में बालक वसंत का स्वागत गुलाब द्वारा किये जाने का चित्रण किया हैं।

19. कवि श्री निराला ने गुलाब को पूँजीवाद और शोषण के रूप में अंकित किया हैं।

20. कवि रामवृक्ष वेनिपुरी ने गुलाब को संस्कृति का प्रतीक कहा हैं।

Related Posts –

About bhartihindi

भारती हिंदी पर प्रतिदिन नयी नयी रोचक कहानियाँ और महत्वपूर्ण जानकारी शेयर की जाती हैं, हम अपने सभी पाठकों का दिल धन्यवाद करते हैं।

View all posts by bhartihindi →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *