Good story – किसान की शिक्षा



Good story – किसान की शिक्षा 

बहुत पुरानी बात हैं | एक गाँव में एक किसान रहता था , उसके चार बेटे थे चारों आपस में बहुत लड़ते – झगरते

रहते थे  |
यह देख किसान बहुत दुखी रहता था | किसान ने उन्हें बहुत समझाया लेकिन उसके किसी भी बात का लड़को  
पर असर ही नहीं होता था |
एक दिन किसान ने अपने चारों बेटे खेत में आने के लिए बोला |
 जब वह खेत पर पहुँचे तो एक बड़ा सा पत्थर दिखा कर कहा – बेटा यह पत्थर तुम हटा दो ,  यह हमारे बैलों    को आने जाने में दिक्कत देता हैं |

good story get moral
Good story image
पहला लड़का गया उसने बहुत जोर लगाया लेकिन उससे पत्थर नहीं हिला |
उसके तीनों भाई यह देख हँसने लगे |
अब दूसरा लड़का गया और पत्थर हटाने की कोशिस की लेकिन पत्थर उससे भी नहीं हिला |
इसी तरह तीसरा लड़का और चौथा लड़का गया लेकिन पत्थर थोडा भी न हिला |
चारों थक कर किसान के पास गए और बोले – पिताजी वह पत्थर बहुत बड़ा हैं ,  उसे हटाना संभव नहीं हैं |

story get moral
Good story image
किसान ने पूछा – बेटा तुमलोगों ने उसे कैसे हटाने का प्रयास किया |
बेटे ने कहा – हम चारों ने एक एक कर उसे धक्का दिया लेकिन पत्थर नहीं हिला |
किसान ने कहा – अब जाओ और सब एक साथ उसे धक्का देना अगर नहीं हिले तो बताना |
चारों लडके वापस गए और उन्होने पत्थर को जैसे ही धक्का दिया पत्थर लुढ़कने लगा और चारों ने मिलकर उस पत्थर को किनारे कर दिया |
 किसान ने कहा – बेटे तुम चारों बिखर कर प्रयास कर रहे थे इसलिए 
यह पत्थर नहीं हटा और एकजुट होकर प्रयास किया तो पत्थर हट गया |
इसीलिए कहते हैं एकता में बल होती हैं एकजुट रहो | सभी बेटे को यह बात समझ आ गयी और उन्होने आगे कभी आपस में लड़ाई नहीं किया |

Leave a Comment