Inspirational story – किसान और फूटा घरा


एक गाँव में एक किसान रहता था | वह बहुत परिश्रमी था ,वह रोज अपने कंधो पर पानी भरा घरा रखता और नदी से पानी भर कर अपने खेतों को सिंचता था |

ऐसा वो रोज करता था लेकिन उसके घरे में एक छेद था जिसके कारण घरे का कुछ पानी रास्ते में गिर जाता था | इस बात से उसका मन बहुत परेसान रहता था |

एक दिन की बात  हैं जब वह पानी ले जा रहा था तभी एक बुढ़े व्यक्ति ने उसे रोका और धन्यवाद दिया |

किसान को ये बात समझ नहीं आयी |

inspirational story is the best story
inspirational story

किसान ने पूछा – बाबा आपने मुझे धन्यवाद क्यों दिया में ने तो एसा कोई कार्य नहीं किया |



बुढ़े व्यक्ति ने कहा – बेटा में इस रास्ते से कुछ दिन पहले गया था तब ये इतना हरा भरा नहीं था ,  बहुत सारे

कंकड़ पत्थर इस रास्ते में थे बहुत कम लोग इधर से जाते थे |

तुम्हारे घरे से रोज इस रास्ते पर थोड़ा – थोडा पानी गिरने के कारण  यह रास्ता कितना हरा – भरा हो गया इसके

किनारे देखो कितने सुंदर – सुंदर फूल आ गये , मैने इसीलिए तुम्हे धन्यवाद दिया |

किसान ने कहा – बाबा मेरे घरे से पानी गिरता हैं में इस बात से हमेशा परेसान रहता था |

लेकिन अब में इस रास्ते को ऐसे ही हरा – भरा रखूँगा |

उस दिन के बाद किसान ने थोडा – थोडा ध्यान उस रास्ते पर दिया और वह रास्ता हरा भरा हो गया वहां से लोग आने – जाने लगे |

दोस्तों जरा ध्यान दीजियेगा ऐसा ही कोई कार्य आप से भी होता हो , अगर नहीं होता तो कुछ ध्यान देने से हो सकता हैं | यह कहानी आपको कैसी लगी कमेंट में हमें जरुर बताईये 

About bhartihindi

भारती हिंदी पर प्रतिदिन नयी नयी रोचक कहानियाँ और महत्वपूर्ण जानकारी शेयर की जाती हैं, हम अपने सभी पाठकों का दिल धन्यवाद करते हैं।

View all posts by bhartihindi →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *